PM आवास योजना : रीवा में क़िस्त लेकर रफूचक्कर हो गए हजारों हितग्राही, होगी दण्डात्मक कार्रवाई || REWA NEWS


रीवा। शासन की योजनाओं का पैसा लेकर गायब होने वाले हितग्राहियों की अब खैर नहीं। ऐसे हितग्राहियों का चिह्नित कर कार्रवाई की तैयारी है। संबंधित हितग्राहियों के साथ वसूली के साथ ही दंडात्मक कार्रवाई भी की जा सकती है। इस तरह के मामले पीएम आवास योजना के संबंध में ज्यादा सामने आए हैं। विभागीय सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार जिले के पीएम आवास के 1100 हितग्राहियों ने आवास बनाने के लिए दी गई राशि की किस्त तो निकाल लिये लेकिन भवन निर्माण नहीं कराया जा रहा है। कई हितग्राही तो पहली किस्त लेकर ही लापता हो चुके हैं, जबकि कुछ दूसरी या तीसरी किस्त लेकर गायब हैं। मैदानी जांच के बाद यह बात सामने आयी है कि कई हितग्राही पहली किस्त लेकर गड्ढे खोद कर काम बंद कर दिया, तो कुछ प्लिंथ लेवल और कुछ छत लेवल तक दीवाल उठाकर छोड़ दिया। जांच में यह बात सामने आयी है कि अधिकांश हितग्राहियों के वर्ष 2016-17 में प्रकरण स्वीकृत किए गए थे। 

ज्ञात हो कि वित्तीय वर्ष 2016-17 व 2017-18 में 25429 हितग्राहियों को आवास स्वीकृत किए गए थे। पीएम आवास योजना के तहत आवास बनाने के लिए 1.50 लाख रुपए दिए हैं, जो कि हर हितग्राही को चार किस्तों में राशि खाते के जरिये आरटीजीएस की जाती है। जिसमें तीन किस्तें 40-40 हजार और चौथी किस्त 30 हजार की होती है। बता दें कि 1.20 लाख रुपये आवास निर्माण में सामग्री खरीदी के लिए जबकि 12 हजार शौचालय निर्माण व 18 हजार रुपये मनरेगा योजना से मजदूरी के लिए दी जाती है। विभागीय सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार वर्ष 2016-17 व 2017-18 में मिले 25421 हितग्राहियों के लक्ष्य के विपरीत लगभग 18 हजार आवासों का निर्माण कार्य पूरा हो चुका है, जबकि 6.25 हजार आवासों को जून महीने तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। यानी अब तक 23406 आवासों को तीसरी किस्त जारी हो चुकी है। शेष बचे हितग्राही ऐसे हैं, जो किस्त का पैसा लेकर गायब हैं, उनकी खोज-खबर ली जा रही है। 

No comments

Powered by Blogger.