मप्र के डेढ़ दर्जन जिले संवेदनशील, अलर्ट | MP NEWS


भोपाल। एससीएसटी एक्ट के मामलों में कार्रवाई को लेकर सुप्रीम कोर्ट द्वारा जारी गाइड लाइन के बाद दलित संगठनों द्वारा दो अप्रैल को देशभर में की गई हिंसा के बाद पुलिस सतर्क है। यही वजह है कि 10 अप्रैल को सवर्ण संगठनों द्वारा संभावित बंद, डा. भीमराव आंबेडकर और भगवान परशुराम जयंती को लेकर पुलिस मुख्यालय ने जिलों को अभी से अलर्ट कर दिया है। 


पीएचक्यू ने तीनों आयोजनों के लिए डेढ़ दर्जन जिलों को संवेदनशील घोषित कर कानून व्यवस्था की पुख्ता तैयारियां करने के निर्देश दिए हैं। 14 अप्रैल को डा. आंबेडकर और 18 अप्रैल को परशुराम जयंती है। पीएचक्यू ने ग्वालियर और चंबल संभाग के सभी जिलों के अलावा महाराष्ट्र की सीमा से लगे जिलों को संवेदनशील बताया है। जिन जिलों को लेकर अलर्ट जारी किया गया है। 

सभी जिलों के अधिकारियों को तीनों आयोजनों को लेकर सतर्क रहने, एहतियात बरतने और पर्याप्त सुरक्षा इंतजाम रखने को कहा गया है। आईजी मकरंद देउस्कर ने बताया कि भारत बंद के दौरान भड़की हिंसा के मामले में पूरे प्रदेश में 141 मामले दर्ज हुए और 361 लोगों की गिरफ्तारी हुई है। जहां-जहां से सोशल मीडिया पर पोस्ट हुए हैं वहां वहां कार्रवाई चल रही हैं।

No comments

Powered by Blogger.