दुधमुहे बच्चे के साथ आत्मदाह करने आग में बैठी माँ की मौत, ऐसे जिन्दा बच निकला बच्चा || REWA NEWS

रीवा. अपने दूधमुहे बच्चे सहित एक महिला ने केरोसिन डालकर आग लगा ली। हृदय विदारक घटना में बुरी तरह झुलसी महिला की अस्पताल ले जाते समय रास्ते में मौत हो गई जबकि उसका बच्चा आंशिक रूप से झुलस गया। पुलिस ने घटना की जांच शुरू कर दी है।

रोंगटे खड़े कर देने वाली यह घटना चाकघाट थाने के डीही गांव में हुई। रविता आदिवासी पति अभयराज 22 वर्ष ने रविवार के सांयकाल अपने कमरे में केरोसिन डालकर आग लगा ली। यह घटना उस समय हुई जब परिजन अपने-अपने काम में व्यस्त थे। इस दौरान अपने कमरे में गई महिला ने केरोसिन डालकर 8 महीने के पुत्र लल्ला के साथ आग लगा ली। कमरे से धुआं उठता देख परिजनों को घटना की जानकारी हुई।

जब वह कमरे पहुंचे तो अंदर का खौफनाक मंजर देख उनके होश उड़ गए। परिजनों ने तत्काल आग को बुझाया। इस दौरान महिला का पूरा शरीर झुलस गया था जबकि उसका पुत्र आंशिक रूप से झुलसा गया। परिजन महिला को तत्काल उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लेकर आए जहां से चिकित्सकों द्वारा रेफर करने पर उसे इलाहाबाद लेकर जा रहे थे लेकिन महिला ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया। रात में महिला का शव लेकर परिजन वापस आ गए और पुलिस को सूचना दी। सुबह पुलिस मौके पर पहुंच गई और घटनास्थल का निरीक्षण किया। महिला द्वारा उठाए गए इस आत्मघाती कदम के कारण अभी तक सामने नहीं आए हैं। पुलिस ने मर्ग कायम कर घटना की जांच शुरू कर दी है।


मौत के मुंह से निकल आया मासूम
महिला ने अपने 8 महीने के पुत्र के साथ आग लगाई थी लेकिन वह मौत के मुंह से सुरक्षित बाहर निकल आया। महिला अपने पुत्र को गोद में लिए हुए थी लेकिन जैसे ही आग भडक़ी तो पुत्र उसके हाथ से छूट कर जमीन में गिर गया। छटपटाहट में महिला पुत्र से दूर भागी जिससे वह आंशिक रूप से ही झुलसा था। उसे भी उपचार के लिए परिजन अस्पताल लेकर आए थे।



मायके वालों ने लगाया हत्या का आरोप
इस हृदय विदारक घटना में मायके वालों ने हत्या का आरोप लगाया है। महिला की शादी 2 साल पूर्व हुई थी और उसका मायका ग्राम डीह थाना सोहागी में था। मायके वालों का आरोप था कि ससुराल वाले उसे आए दिन प्रताडि़त कर मारपीट करते थे। उन्होंने पुत्री को जिंदा जला दिया है।



डीही गांव में महिला ने अपने बच्चे के साथ आग लगाई थी। बच्चा तो सुरक्षित बच गया लेकिन बुरी तरह झुलसी महिला की अस्पताल ले जाते समय मौत हो गई। घटना की जांच एसडीओपी द्वारा की जाएगी। जांच में जो तथ्य सामने आएंगे उस आधार पर कार्रवाई की जाएगी।
--पवन शुक्ला, थाना प्रभारी चाकघाट

No comments

Powered by Blogger.