MP में सिर्फ राजनीति करने आया हूँ, मैं BJP के खिलाफ हूँ, इसलिए कांग्रेस के साथ हूँ : हार्दिक

भोपाल। लोगों का कहना है कि चुनाव पास आते ही लोग राजनीति करने आने लगे हैं। मैं साफ कर देता हूं कि मैं शुद्ध रूप से राजनीति करने ही आया हूं। सभी लोग पूछते हैं कि आप आगामी चुनाव में किसका साथ दोगे। मैं भाजपा की नीतियों के खिलाफ हूं, इसलिए साफ है कि मैं कांग्रेस के साथ हूं। ये बात तीन दिन के मध्य प्रदेश दौरे पर आए हार्दिक पटेल ने मंदसौर में कही।

हार्दिक शनिवार को जावद में किसान क्रांति सम्मेलन को संबोधित करेंगे, जिसमें तीन राज्यों से किसानों के आने की चर्चा है। हार्दिक ने कहा कि मैं खूले तौर पर कहना चाहता हूं कि मैं बीजेपी के खिलाफ हूं, जो पार्टी अपना ही किया वादा भूल जाए, कोई उस पर भरोसा कैसे कर सकता है। बीजेपी राम मंदिर के मुद्दे पर इतनी बड़ी पार्टी बनी, राज्य से लेकर केंद्र तक उसकी सरकार है, लेकिन मंदिर बनाने को लेकर कोई कुछ नहीं कह रहा है।

बीजेपी मंदिर बनवाने का अपना ही वादा भूल चुकी है। शिवराज सरकार खुद को किसान हितैषी बताती है, लेकिन किसानों के सीने पर गोली चलवाती है। सरकार का दावा है कि किसानों हित में वे लगातार काम कर रही है और कई योजनाएं चला रही है। यदि ये सही है तो फिर हमारे किसान भाई मौत को गले क्यों लगा रहे हैं।

भाजपा के गढ़ में देंगे चुनौती 
सरकार व संगठन की कार्यप्रणाली से नाराज लोग पार्टी के लिए गुजरात में मुसीबत बन चुके हार्दिक पटेल, अल्पेश ठाकोर और जिग्नेश मेवाणी को बुलाकर विपक्षी नेताओं के साथ मिलकर भाजपा के अजेय गढ़ रहली विधानसभा क्षेत्र के गढ़ाकोटा में किसान महासम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है। यह क्षेत्र गोपाल भार्गव का है। जहां पर आठ अप्रैल को संयुक्त पिछड़ा वर्ग संघर्ष मोर्चा के बैनर तले यह आयोजन किया जा रहा है। बताया जा रहा है कि इस तरह के आयोजन प्रदेश में चुनाव तक लगातार किए जाने की रणनीति तैयार की गई है। 

No comments

Powered by Blogger.