बहन को बचाने के लिये भाई ने किया कुछ ऐसा जिसने भी सुना उसकी आंखे हो गयी नम | REWA NEWS


रीवा. बहन को बचाने के प्रयास में भाई ने अपनी जान कुर्बान कर दी। करंट में फंसी बहन को तो उसने बचा लिया लेकिन खुद अपनी जान गवां बैठा। घटना चाकघाट थाने के बघेड़ी गांव की है। सोहागी थाने के बांस निवासी मुनिराज माझी 37 वर्ष अपनी बहन की ससुराल बघेड़ी थाना चाकघाट गया हुआ था। शनिवार को ससुराल में देवी की पुजाई थी जिसमें वह शामिल हुआ था। रात में काम से फुर्सत होकर उसकी बहन कपड़े धो रही थी।

फैला रही थी कपड़े
करीब साढ़े ग्यारह बजे महिला कपड़े सुखाने के लिए उसे तार में फैलाने गई थी जिसमें बिजली का तार टूटकर फंसा हुआ था। अंधेरा होने की वजह से महिला उसे देख नहीं पाई। जैसे ही उसने कपड़े तार में डाले तो वह करंट की चपेट में आ गई। इस दौरान वहां मौजूद भाई उसे बचाने के लिए दौड़ा। बहन को बचाने के लिए उसने धक्का दे दिया जिससे महिला दूर जा गिरी।


बच गई बहन
बहन को उसने बचा लिया लेकिन खुद करंट की चपेट में आ गया। इस दौरान परिजनों ने विद्युत आपूर्ति बंद कर दी लेकिन तब तक युवक की मौत हो चुकी थी। रविवार की सुबह पुलिस ने घटनास्थल का निरीक्षण किया और युवक के शव को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भिजवा दिया। इस घटना में बहन भी घायल हो गई थी जिसको रात में ही इलाज के लिए अस्पताल लाया गया था। अचानक हुई इस घटना से पूरा परिवार सकते में है।


पाइप की चपेट में आये वृद्ध की मौत
रविवार की दोपहर पहाड़ में ट्रक में अनियंत्रित होकर पलट गया। इस दौरान में उसमे लोड पाइप गिर गई जिसकी चपेट में आने से वृद्ध की मौत हो गई। बड़ी-बड़ी पाइप लोड कर इलाहाबाद तरफ जा रहा था। ट्रेलर दोपहर करीब एक बजे जैसे ही सोहागी पहाड़ में पहुंचा तभी अचानक उसका संतुलन बिगड़ गया और ट्रेलर अनियंत्रित होकर पलट गया। इस दौरान उसमें लोड पाइप गिर गया जिसकी चपेट में आने से पैदल जा रहे रामदास साकेत 32 वर्षनिवासी झिरिया की मौत हो गई।

No comments

Powered by Blogger.