दोस्त ने युवती को प्रसाद खिलाकर किया बेहोश, फिर पांच दिन तक किया ये काम| Crime News


भोपाल। एक ओर मध्यप्रदेश की राजधानी लगातार महिलाओं के लिए असुरक्षित होती जा रही है। वहीं देश की राजधानी भी महिलाओं के लिए सुरक्षित नहीं दिख रही। ऐसे इसलिए क्योंकि एक युवक द्वारा दिल्ली में 20 साल की एक युवती को पांच दिन तक बंधक बनाकर लगातार रेप करने का मामला सामने आया है। मिली जानकारी के अनुसार, युवती भोपाल के एक शापिंग मॉल में काम करती है। बीते 24 मार्च को युवती घर से काम करने के लिए निकली थी तभी उसके दोस्त आरोपी तरूण ने युवती को प्रसाद के बहाने बेहोश कर दिल्ली ले गया था। शाम तक युवती के घर न पहुंचने पर युवती के परिजन ने मिसरौद थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवायी थी।
अब तक नहीं हुई गिरफ्तारी
वापस भोपाल आकर युवती ने बताया कि आरोपी ने एक बंद कमरे में बंदकर पांच दिन तक दुष्कर्म किया। इसी दौरान मौका मिलते ही युवती दिल्ली स्टेशन आकर भोपाल के लिए ट्रेन में सवार हो गई। शुक्रवार को युवती ने भोपाल के मिसरौद थाना पहुंचकर आरोपी के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज करवाया। पुलिस ने युवती की शिकायत के आधार पर आरोपी तरूण सहित अन्य तीन पर मामला दर्ज कर लिया है। हालांकि पुलिस अभी किसी भी आरोपी की गिरफ्तारी नहीं कर पायी है। पुलिस का कहना है कि आरोपी को जल्दी ही दिल्ली पहुंचकर गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
दर्ज हुआ था गुमशुदगी की रिपोर्ट
मिसरौद थाने पहुंच कर जब युवती ने अपनी आपबीती सुनायी तो थाने के सभी पुलिस चौंक गए। क्योंकि युवती के परिजन ने 24 मार्च को ही थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कर वायी थी। पुलिस का कहना है कि आरोपी तरूण सहित उसके अन्य दोस्तों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। जल्दी ही आरोपी को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
इधर, गौतम नगर इलाके में रिश्तों को शर्मसार कर देने का भी एक मामला सामने आया है। मामले में एक महिला ने अपने ससुर पर उसके साथ दुष्कर्म करने के आरोप लगाए हैं। पीड़ित महिला ने बीते दिनों महिला हेल्पलाइन में अपने साथ हुई ज्यादती की शिकायत दर्ज करवाई थी। बीते गुरुवार को इस मामले की रिपोर्ट संबंधित गौतम नगर थाने में दर्ज हुई है। गौतम नगर थाना पुलिस ने फरियादी 26 वर्षीय महिला की शिकायत पर आरोपी पति धीरज, ससुर बृजमोहन, सास शशि के खिलाफ धारा 376(2) एफ, 354, 354ए, 498ए, 506, 190 आईपीसी के तहत मामला दर्ज किया है।

No comments

Powered by Blogger.